नीति आयोग की बैठक में नहीं पहुंचे 8 मुख्यमंत्री, बीजेपी बोली- आप अपने राज्य के लोगों को नुकसान क्यों पहुंचा रहे?

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने नीति आयोग संचालन परिषद की बैठक का बहिष्कार करने वाले मुख्यमंत्रियों पर निशाना साधते हुए उनके फैसले को ‘‘जन-विरोधी” और ‘‘गैर जिम्मेदाराना” बताया। नीति आयोग संचालन परिषद की आठवीं बैठक यहां शनिवार को शुरू हुई। बैठक में देश को 2047 तक विकसित देश बनाने के उद्देश्य से स्वास्थ्य, कौशल विकास, महिला सशक्तीकरण और बुनियादी ढांचा विकास समेत कई मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने बनाई दूरी 
भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नीति आयोग देश के विकास के लिए लक्ष्य तय करने, रूपरेखा तथा रोडमैप बनाने के लिए एक अहम निकाय है। उन्होंने कहा कि नीति आयोग की संचालन परिषद की आठवीं बैठक में 100 मुद्दों पर चर्चा करने का प्रस्ताव है लेकिन आठ राज्यों के मुख्यमंत्री इसमें भाग लेने के लिए नहीं आ रहे हैं। प्रसाद ने कहा, ‘‘वे बैठक में भाग लेने क्यों नहीं आ रहे हैं जिसमें 100 मुद्दों पर चर्चा की जानी है।

आप अपने राज्य के लोगों को नुकसान क्यों पहुंचा रहे हैं?
अगर इतनी बड़ी संख्या में मुख्यमंत्री भाग नहीं लेते हैं तो वे अपने राज्यों की आवाज नहीं उठा रहे हैं।” भाजपा नेता ने कहा कि यह ‘‘बहुत दुर्भाग्यपूर्ण, गैरजिम्मेदाराना और जन विरोधी है।” उन्होंने पूछा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विरोध करने में आप कहां तक जाएंगे।” भाजपा नेता ने कहा, ‘‘आपको मोदी का विरोध करने के लिए और अवसर मिलेंगे लेकिन आप अपने राज्य के लोगों को नुकसान क्यों पहुंचा रहे हैं।” प्रसाद ने कहा कि आठ मुख्यमंत्रियों द्वारा बैठक का बहिष्कार करने का फैसला ‘‘पूरी तरह गैर जिम्मेदाराना” है और यह ‘‘जनहित तथा उनके राज्यों के लोगों के हित के खिलाफ” भी है।

 

NEWS SOURCE : punjabkesari

Related Articles

Back to top button