आज हर दिल कर रहा दिल से सलाम, देवदूत बनकर बचाई 300 लोगो की जान: ओडिशा Train Accident

ओडिशा के बालासोर में शुक्रवार शाम को हुए भयानक रेल हादसे में अभी तक 288 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है, जबकि 1000 से अधिक यात्री घायल हुए है। कुछ लोग अभी भी जिंदगी और मौत की जंग से लड़  रहे हैं। जिस वक़्त यह हादसा हुआ उस वक्त एक शख्स घटना स्थल के करीब था जिसने किसी फरिश्ते की तरह सैंकड़ों जख्मी लोगों की जान बचाई। जिसे आज हर दिल सलाम कर रहा है।

 

दरअसल, गणेश नाम के एक शख्स जब  घटनास्थल के पास पहुंचा तो हर तरफ मची चीख पुकार और दर्दनाक हादसे का मंजर था।  उसको कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि वो कहां जाए और किसकी सहायता करें  लेकिन फिर उसने हिम्मत  कर लोगो की मदद करना शुरू कर दी। वह एक एक बोगी में घुसा और लोगों को बाहर निकालने लगा, जो लोग फंसे हुए थे किसी तरह उनको निकाला।

इस तरह उसने एक- एक कर के करीब  300 लोगों की जान बचाई। आस पास के लोग  भी  मदद  के लिए आगे आ गए. कुछ समय बाद राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल (NDRF) राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल( SDRF)सब के सब लोगों को निकालने में जुट गए। गणेश ने बताया कि जितना हो सकता था उसने लोगों को मदद की और उनको बचाया। हादसे इतना  खौफनाक और भयानक हैं की जिसकी हम  कल्पना भी नही कर सकते।

 

ओडिशा रेल हादसे से पूरा देश स्तब्ध है।  इसके अलावा घायलों के लिए नायक बनकर स्थानीय लोग भी  मदद करने के लिए पहुंच रहे है। इससे पहले ओडिशा के स्थानीय लोग ने बड़े पैमाने पर रक्तदान करने पहुंचे।

दूसरी तरफ, रेल मंत्री ने हादसे में मारे गए लोगों के लिए 10 लाख रुपएऔर गंभीर रूप से घायलों के लिए 2-2 लाख रुपए और अन्य घायलों के लिए 50 हजार रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। वहीं प्रधान मंत्री पीएम मोदी ने हादसे पर दुख जताते हुए पीएम नेशनल रिलीफ फंड से मृतकों के परिवार के लिए दो-दो लाख रुपये और घायलों के लिए 50,000 रुपए के अतिरिक्त मुआवजे की घोषणा भी की।

 हेल्पलाइन नंबर 
रेलवे द्वारा हादसे के बाद  सहायता फोन सेवा नंबर जारी किए गए हैं। इन नंबर्स पर कॉल करके लोग अपने प्रियजनों के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।
हावड़ा हेल्पलाइन नंबर: 033-26382217
शालीमार हेल्पलाइन नंबर: 9903370746
खड़गपुर हेल्पलाइन नंबर: 8972073925 और 9332392339
बालासोर हेल्पलाइन नंबर: 8249591559 और 7978418322

 

NEWS SOURCE : punjabkesari

Related Articles

Back to top button