महिलाएं अपने साथ मिर्ची पाउडर या सप्रे रखें ताकि वह उनके साथ छेड़छाड़ करने वाले मनचलों को सबक सिखा सकें- इंस्पेक्टर गीता

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए महिला थाना सेंट्रल प्रभारी इंस्पेक्टर गीता ने अजरौंदा स्थित राजकीय मॉडल संस्कृति प्राथमिक विद्यालय में छात्राओं को विभिन्न सामाजिक मुद्दों के बारे में जागरूक किया।
पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि फरीदाबाद पुलिस द्वारा स्कूली छात्रों को समाज के मुख्य मुद्दों के बारे में जागरूक करके इसके खिलाफ आवाज उठाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसी के तहत इंस्पेक्टर गीता आज अजरोंदा स्थित राजकीय मॉडल संस्कृति प्राथमिक विद्यालय पहुंची जहां स्कूल प्रिंसिपल तथा शिक्षकगणों ने पौधे भेंट कर पुलिस टीम का स्वागत किया और छात्रों को जागरूक करने के लिए थाना प्रभारी को मंच पर आमंत्रित किया।
इंस्पेक्टर गीता ने छात्राओं को समाज में महिलाओं विरुद्ध अपराध के बारे में जागरूक करते हुए बताया कि जब छात्राएं स्कूल कॉलेज या पार्क में जाती हैं तो कुछ मनचले किस्म के लड़के उनके साथ छेड़छाड़ करते हैं, भद्दे कमेंट पास करके सिटी बजाते हैं और कई बार तो लड़कियों का रास्ता रोककर उनके साथ जबरदस्ती करने की भी कोशिश करते हैं। पुलिसकर्मियों ने छात्राओं को इस प्रकार के मनचलों को सबक सिखाने के लिए आत्मरक्षा के गुर सिखाए और उन्हें बताया कि किस प्रकार आप अपने आप को इनसे सुरक्षित रख सकती हैं। पुलिस टीम ने बताया कि एक बार जब कोई लड़की उसके साथ छेड़छाड़ करने वाले लड़के का विरोध करने से झिझकती है तो उस लड़के का मनोबल और बढ़ जाता है और वह बार-बार उस लड़की को परेशान करने की कोशिश करता है। इस प्रकार बार-बार प्रताड़ित होने की वजह से लड़की तनाव में आ जाती है और फिर उस रास्ते से गुजरने से डरती है जहां पर उस किस्म के लड़के मौजूद रहते हैं। इसलिए आवश्यक है कि इस प्रकार के लड़कों को सबक सिखाया जाए। इसके साथ ही पुलिसकर्मियों ने छात्राओं को महिला विरुद्ध अपराध से जुड़े अन्य मुद्दों जैसे भ्रूण हत्या, बाल अपराध, छेड़छाड़, उत्पीड़न इत्यादि से अवगत कराते हुए सेल्फ डिफेंस के बारे में जानकारी प्रदान की। उन्होंने बताया कि यदि कभी भी उन्हें किसी व्यक्ति से किसी प्रकार का खतरा महसूस हो तो वह सेल्फ डिफेंस के माध्यम से अपनी रक्षा कर सकती हैं।
उन्होंने बताया कि छात्राएं अपने साथ हमेशा मिर्ची पाउडर या स्प्रे जरूर रखें ताकि यदि कभी भी वह मुसीबत में हो तो इसका उपयोग करके वह अपराधियों से अपने आप का बचाव कर सकें। उन्होंने बताया कि वह इस प्रकार के अपराधों के खिलाफ आवाज उठाएं और उन्हें समाज में कहीं भी इस प्रकार की कुरीतियां दिखाई दे तो वह इसके खिलाफ महिला हेल्पलाइन 1091 या पुलिस हेल्पलाइन 112 पर इसकी सूचना दें। इसके अलावा महिलाओं की मदद के लिए पुलिस विभाग द्वारा दुर्गा शक्ति एप भी उपलब्ध है जिसे फोन में इंस्टॉल करके इसकी सहायता से पुलिस की मदद ली जा सकती है। इसके साथ ही महिला पुलिसकर्मियों ने छात्राओं को साइबर अपराध, सड़क सुरक्षा यातायात नियमों के बारे में भी अहम जानकारी प्रदान की। थाना प्रभारी ने छात्राओं को महिला विरुद्ध अपराध के खिलाफ आवाज उठाने की शपथ दिलवाकर कार्यक्रम का समापन किया। सभी छात्रों सहित शिक्षिकगणों ने थाना प्रभारी द्वारा इस जागरूकता कार्यक्रम के लिए उनका धन्यवाद किया।
पुलिस प्रवक्ता।

Related Articles

Back to top button